आजकल हर कोई अपने काम की वजह से हड़बड़ी में लगा रहता है आजकल जल्दबाजी में हमारी लाइफस्टाइल कई समस्याओ के  कारण बन जाती है यहाँ तक की कई बार नन्हे बच्चो को नहलाने से या नहलाते समय वो बहुत कांपते है,रोते -रोते उनका चेहरा लाल पढ़ जाता है | कभी – कभी अपने देखा होगा ही की यदि कोई बुजुर्ग नहाता है तो उसकी नहाते हुए अचानक से साँस फूलने लगती है तथा सांस लेने में तकलीफ या स्ट्रोक जैसे लक्षण नजर आने लगते है

इस पोस्ट को अच्छे से पढ़ने के लिए हमारी एंड्राइड ऐप का इस्तेमाल करें ऐप डाउनलोड करें

You can become paralyzed by pouring water directly on your head.

ऐसे नहाने से बढ़ सकता है पैरालिसिस का खतरा 

हमारे शरीर में खून का प्रवाह ऊपर सर  से शुरू होकर निचे पैरो की तरफ होता है |इसलिए अगर हम पानी सीधे अपने सर पर डालते है तो नलिकाएं सिकुड़ने या रक्त के थक्के जमने लगते हैजिससे आप लकवे या हार्ट अटैक जैसी बीमारियों जैसी समस्या से झूझना पड़ सकता है |

कैसे नहाये जिससे ये बीमारी न हो 

हमें बाथरूम में आराम से बैठकर या खड़े होकर सबसे पहले हमें अपने पैरो के पंजो पर पानी डालना चाहिए | फिर रगड़ते हुए पिंडलियों व घुटनो और जांघो पर पानी डालना चाहिए फिर अपने हाथो से मालिश करिये | फिर धीरे धीरे ऊपर की और बढ़ते हुए पानी डाले |

हाथो से लेकर और कंधो तक पानी डाले | हाथो में पानी लेकर मुँह पर मले | फिर दोबारा हाथो से पानी लेकर सर पर मले

इसके बाद आप शावर के निचे खड़े होकर नाहा सकते है फिर आपके शरीर को कोई खतरा नहीं है या फिर आप अपने शरीर पर बाल्टी भी उड़ेलकर नहा सकते है | इस प्रक्रिया में केवल 1 मिनट लगता है

इस पोस्ट को अच्छे से पढ़ने के लिए हमारी एंड्राइड ऐप का इस्तेमाल करें ऐप डाउनलोड करें