Modi Govt 8 Years: सुरजेवाला ने कहा मोदी जी आए तो अच्छे दिन नहीं बेरोजगारी-महंगाई के दिन साथ लेकर आए हैं. उन्होंने कहा कि छल-कपट, झूठ और नफरत का सहारा ले रहे हैं.

Modi Govt. 8 Years: मोदी सरकार के आज आठ साल पूरे हो रहे हैं. आज के दिन ही 26 मई को पीएम मोदी ने साल 2014 में देश के 15वें प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली थी. इस मौके पर जहां बीजेपी की तरफ से आयोजन कर सरकार की उपलब्धियों को बताने का प्रयास किया जा रहा है, तो वहीं दूसरी तरफ विपक्षी कांग्रेस पार्टी ने उनके आठ साल के कार्यकाल को पूरी तरह से विफल बता दिया है. कांग्रेस ने इस मौके पर एक नया नारा दिया है- 8 साल, 8 छल, मोदी सरकार विफल. साथ ही, आंतरिक मोर्चे से लेकर अर्थव्यवस्था तक मोदी सरकार को सवालों के जरिए घेरने का प्रयास कर रही है. कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला और अजय माकन ने इस मौके पर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मोदी सरकार पर निशाना साधा और नया नारा जारी किया.

अच्छे दिन नहीं बेरोजगारी और महंगाई

सुरजेवाला ने कहा मोदी जी आए तो अच्छे दिन नहीं बेरोजगारी और महंगाई के दिन साथ लेकर आए हैं. उन्होंने कहा कि छल-कपट, झूठ और नफरत का सहारा ले रहे हैं. अब किसानों की आमदनी, लोगों पर बुलडोजर चलाने वाले हैं. अब सरकार द्वारा सिर्फ जुमले दिया जा रहे है.

अजय माकन ने सरकार से इस मौके पर पूछा कि आखिर किसके अच्छे दिन आए हैं? उन्होंने कहा कि जिनकी कोविड तक में संपत्ति बढ़ गई, किसानों को काले कानून मिले, 1000 रुपये का गैस, 12 करोड़ नौकरी चली गई, ये हम मोदी जी से पूछना चाहते हैं. उन्होंने वैश्विक भूखमरी इंडैक्स का हवाला देते हुए कहा कि इस सूची में हम 55 से 101 स्थान पर चले गए. फ्रीडम ऑफ प्रेस में 140 से 150 पर, रूल ऑफ लॉ इंडेक्स में 35 से 79, डेमोक्रेसी इंडेक्स में 27 से 46 पर चले गए. कांग्रेस नेता ने आगे कहा कि हर वैश्विक मापदंड पर भारत फिसलता जा रहा है.

मोदी सरकार के आठ साल पर कांग्रेस के सवाल

अजय माकन ने कहा कि मोदी सरकार ने जनता से आठ वर्षों के दौरान आठ छल किए हैं. पहला छल- भाजपा है तो महंगाई है. महंगाई बढ़ गई है. दूसरा छल- सबसे युवा देश को बेरोजगारी में झोंका. तीसरा छल- अर्श से फ़र्श अर्थव्यवस्था. रुपया ऐतिहासिक गिरा, सरकारी कर्ज़ 80 लाख करोड़ सरकार ने लिया पिछले 8 सालों में. बड़े बड़े धन्ना सेठों के 9 लाख करोड़ के लोन राइट आफ किए गए. पूरे देश को सेल पर डाल दिया.

चौथा छल- आदमी कीआमदनी नहीं हुई दोगुना, दर्द दिया सौगुना. किसानों के खिलाफ़ तीन काले कानून लाए. पांचवा छल- शौर्य के नाम वोट, सेना को चोट. OROP में धोखा दिया. छठा छल- विकास से नहीं है नाता, बस नफरत फैलाना है आता. छोटे बड़े सभी दंगों को एक साथ बताएं तो करीब 10000 दंगे पिछले 8 साल में. सातवाँ छल- पिछडो को पीछे छोड़ा, SC/ST/OBC से नाता तोड़ा. आठवां छल- राष्ट्रीय सुरक्षा पर मोदी सरकार ने बंद की आंख. चीन और सीमा के हालातों का हवाला दिया. अडानी के पोर्ट पर ड्रग्स का हवाला दिया.