एक किसान अपने खेत से चारा लेकर वापस आ रहा था नीलगाय ने  पीछे से आकार किसान पर हमला कर दिया जब तक किसान की जान नहीं चली गई जब तक उसे नीलगाय मारती रही पुलिस ने मौके पर जाकर नीलगाय को भगाया और फिर किसान को पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया कुछ देर बाद डॉक्टर ने उसे मृतक घोषित कर दिया बताया जा रहा है कि कस्बे के ईदगाह के सामने रहने वाले रामआसरे प्रजापति 61 खेतों में चारा लेकर शाम 5 :30 बजे अपने घर आ रहा था जभी पॉलिटेक्निक कॉलेज के सामने नीलगाय ने पीछे से आकर किसान पर हमला कर दिया|

इस पोस्ट को अच्छे से पढ़ने के लिए हमारी एंड्राइड ऐप का इस्तेमाल करें ऐप डाउनलोड करें

Farmer lost his life due to Nilgai attack

रामआसरे ने नीलगाय से बचने की काफी कोशिश की लेकिन नीलगाय  लगातार उसे मारती रही युवक को देख कर आस पास के पचासों लोग इक्क्ठ हो गए और नीलगाय को भगाने लगे  लेकिन वह सफल नहीं हुए  कुछ देर बाद भाजपा किसान  मोर्चा के जिलाध्यक्ष सिद्धार्थ ठाकुर ने पुलिस को खवर कर दी मौके पर पुलिस ने आकर नीलगाय को भगाने का प्रयास किया गाड़ियों का हूटर बजाने से नीलगाय किसान को छोड़ कर भाग गई

पुलिस ने रामआसरे को  गंभीर हालत में ले जाकर पास के अस्पताल में भर्ती करवा दिया लेकिन कुछ देर डॉक्टरों ने इलाज करने के बाद रामआसरे को मृतक घोषित कर दिया मृतक किसान के पास कम से कम 6 बीघा ज़मीन थी जिसमे वो अपनी खेती बाड़ी करता था  और अपने परिवार वालो का पेट भरता था किसान अपनी पत्नी और चार बच्चो को बिलकता छोड़ गया किसान के बड़े बेटे ने कहा कि पिता हमेशा की तरह खेत पर गए थे बाद ने हमें पता चला की उन्हें नीलगाय ने मर दिया है पुलिस से गांव के भाजपा किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष सिद्धर्थ ठाकुर ने नीलगाय की जंगल में छोड़े जाने की मांग की |

इस पोस्ट को अच्छे से पढ़ने के लिए हमारी एंड्राइड ऐप का इस्तेमाल करें ऐप डाउनलोड करें