मैनपुरी लोकसभा सीट के उप चुनाव को लेकर राजनैतिक सरगर्मिया तेज होती जा रही है दोनों ही पार्टी के नेता उप चुनाव को  लेकर एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगा कर बयान बाज़ी कर रहे है वही राजनीतिक विशेषज्ञो की माने तो मैनपुरी का उप चुनाव 2024 में किसकी जीत और हार होगी यह तय करेगा।

दरसल 2024 में होने जा रहे लोकसभा चुनाव के लिए भी सभी पार्टी ने रणनीति बनाना भी शुरु कर दिया है ऐसे में समाजवादी में राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने 2024 में कन्नौज से चुनाव लड़ने का बयान देके राजनीतिक गलियारों में हलचल मचा दिया है

गुरूवार को एक शादी समारोह के कार्यक्रम में शिरकत करने गए पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पत्रकार द्वारा पूछे गए सवाल पर कहा कि खाली बैठा हूं क्या करूंगा, चुनाव तो लड़ लूंगा। हमारा काम ही है चुनाव लड़ना है, जहां से पहली बार चुनाव लड़ा था, वहीं से लड़ लूंगा। वैसे भी पार्टी है तय करेगी की चुनाव में क्या करना है। हमारी चुनावी रणनीति पार्टी की सहमति के आधार पर बनेगी।

अखिलेश यादव द्वारा दिए गए बयान से साफ़ होता है की अखिलेश यादव 2024 के लोकसभा चुनाव में कन्नौज से चुनाव लड़ने का मन बना रहे है,लेकिन पार्टी की सहमति के ऊपर डालकर उन्होंने इस बयान को छुपाने की कोशिश भी की।

बता दें कि एक निजी शादी समारोह में पहुंचे सपा अध्यक्ष और पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने कन्नौज लोकसभा से चुनाव लड़ने की बात कही। उन्होंने कहा कि कन्नौज में उन्होंने विकास कार्य कराएं हैं। इससे चुनाव भी लड़ेंगे। गुरुवार को कन्नौज नगर पालिका के पूर्व चेयरमैन सुनील कुमार गुप्ता उर्फ मुन्ना के बेटे यश चंद्रगुप्त का तिलक समारोह हुआ।जीटी रोड एफएफडीसी के पास फार्म हाउस में बधाई देने अखिलेश यादव पहुंचे।  उन्होंने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कन्नौज लोकसभा से चुनाव लड़ने का एलान किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था धड़ाम हैं। सरकार के लोग खनन कर रहे हैं। गिरफ्तारी पर खुलेआम भाजपाई थाने से आरोपियों को छुड़ाकर ले जाते हैं।