लोहावट उपखंड के ओमपुरा गांव में संग-संग जीने व संग-संग विदा होने का अजीब वाकया पेश आया जहां ओमपुरा निवासी भंवरसिह व उनकी पत्नी धापु कंवर की सोमवार को एक साथ सांसे टूटी तथा उनका अंतिम संस्कार (Funeral) भी एक ही चिता पर किया गया.

इस पोस्ट को अच्छे से पढ़ने के लिए हमारी एंड्राइड ऐप का इस्तेमाल करें ऐप डाउनलोड करें

प्राप्त जानकारी के अनुसार 80 वर्षीय भंवरसिह रावलोत की दो दिन पूर्व अचानक तबियत ख़राब हो गई थी, जिस पर परिजन उन्हें उपचार के जोधपुर (Jodhpur News) के एक निजी अस्पताल (Private Hospital) लेकर गए और वहां भर्ती करवाया, जहां इलाज के दौरान बीती रात 11 बजे अचानक उनका निधन (Death) हो गया. दूसरी ओर घर पर मौजूद उनकी पत्नी धापु कंवर पति के निधन से बेखबर थी, लेकिन रात 12 बजे अचानक उनकी भी तबियत बिगड़ी व परिजन अस्पताल ले जाते उससे पहले ही उसकी भी सांसे छुट गई.

ग्रामीणों ने बताया की इस दंपति (couple) के कोई भी संतान नहीं थी तथा दोनों अपने घर में अकेले ही रहते थे तथा आमतौर पर स्वस्थ्य बताए जाते थे. ग्रामीणों ने बताया की पति-पत्नी की एक साथ हुई मौत से ओमपुरा क्षेत्र में शोक की लहर छा गई, तथा दोनों का एक साथ चले जाना ग्रामीणों में चर्चा का विषय बना रहा. लोगों ने बताया की दोनों की शादी 1958 में हुई थी तथा दोनों का लगभग 60 वर्ष का साथ रहा और अब दुनिया से विदा हुए तो थी साथ-साथ.

इस पोस्ट को अच्छे से पढ़ने के लिए हमारी एंड्राइड ऐप का इस्तेमाल करें ऐप डाउनलोड करें